October 5, 2022

Hindibiz

हिन्दी में जानकारी

हाई प्रोटीन डाइट का वैकल्पिक स्तोत्र – कोरोना से स्वस्थ होने में महत्वपूर्ण भागीदारी|High protein diet ka vaikalpik stotra-corona se swastha hone men mahatwapurn bhagidari

हाई प्रोटीन डाइट का वैकल्पिक स्तोत्र – कोरोना से स्वस्थ होने में महत्वपूर्ण भागीदारी (Alternative source of high protein diet – important participation in recovery from corona)

अक्सर हमने लोगों को कहते सुना है की प्रोटीन के लिए हमें चिकन, मटन, मछ्ली और अंडे का सेवन करना चाहिए, लेकिन कई बार कई लोग शाकाहारी होते हैं, जो मटन या चिकन जैसी चीजों का सेवन करना पसंद नहीं करते हैं।अब ऐसे में शरीर को प्रोटीन की आवश्यकता होती है, तो ऐसे व्यक्ति क्या करें जो माँस-मछ्ली का सेवन नहीं कर सकते , अब इनके पास कुछ विकल्प ऐसे हो सकते हैं जो चिकन, मटन के बराबर ही प्रोटीन शरीर को प्रदान करते हैं। हमारे आसपास ऐसी बहुत सी चीजें जो उच्च प्रोटीन युक्त भोज्य पदार्थों में अपना स्थान रखती है। आज हम कुछ ऐसी ही खाने की चीजों के बारे में बातें करेंगे जो हमें उच्च मात्रा में प्रोटीन से भरपूर होते हैं और हमें एक वैकल्पिक स्तोत्र प्रदान करते हैं। शोधों के अनुसार कोरोना से जल्दी स्वस्थ होने के लिए हाई प्रोटीन डाइट लेने को कहा जाता था जो व्यक्ति को जल्दी स्वस्थ करने में काफी सहायक था। प्रोटीन हमारे शरीर के निर्माण में, हमारी कोशिकाओं के निर्माण में काफी महत्वपूर्ण है, इसलिए इसका संतुलित मात्रा में सेवन अतिआवश्यक है।

कुछ वैकल्पिक शाकाहारी खाद्य पदार्थ –

1.पनीर –

पनीर प्रोटीन का एक अच्छा स्तोत्र है । 100 ग्राम पनीर में 18 ग्राम प्रोटीन मौजूद होता है। पनीर को कच्चा खाना ज्यादा फायदेमंद होता है इसके अलावा हम इसे सब्जी या चिल्ली के रूप में भी कह सकते हैं। इसमें एक अंडे से ज्यादा प्रोटीन पाया जाता है । एक अंडे में केवल 6 ग्राम प्रोटीन मौजूद होता है। तो पनीर अंडे का एक अच्छा विकल्प हो सकता है। यह हमें काफी ऊर्जा प्रदान करता है और कोशिकाओं के निर्माण में काफी सहायक है।

2.हेम्प सीड –

यह प्रोटीन का बहुत ही अच्छा स्तोत्र है। 100 ग्राम हेम्प सीड में लगभग 30 ग्राम प्रोटीन मौजूद होता है जो की 100 ग्राम चिकन की अपेक्षा में 3 ग्राम ज्यादा है। 100 ग्राम चिकन में लगभग 27 ग्राम प्रोटीन मौजूद होता है। इसलिए चिकन का एक अच्छा विकल्प हेम्प सीड भी हो सकता है। इसका उपयोग हम स्मूदी के रूप में कर सकते हैं। यह मोटापा कम करने में बहुत ही ज्यादा सहायक है।

3.मूँगफली –

मूँगफली लगभग सभी को पसंद है, और यह प्रोटीन का भी एक अच्छा स्तोत्र है। यह भी चिकन का स्थान ले सकता है। 100 ग्राम मूँगफली में लगभग 26 ग्राम प्रोटीन मौजूद होता है जो चिकन के लगभग बराबर ही है। मूँगफली का सेवन हमेशा भीगा कर ही करना चाहिए। यह बहुत ही फायदेमंद होता है। हम इसके उत्पाद जैसे पिनट बटर के रूप में ब्रैड के साथ कर सकते हैं। मूँगफली में अन्य ड्राइफ्रूट्स जैसे बादाम, काजू की अपेक्षा में अत्यधिक प्रोटीन मौजूद होता है, तो हम चाहे तो ड्राईफ्रूट्स के अलावा इसका भी सेवन कर सकते हैं।

4.मूँग दाल –

मूंगदाल का सेवन हमारे लिए काफी फायदेमंद होता है, और यह प्रोटीन और फाइबर का एकअच्छा स्तोत्र भी है। 100 ग्राम मूँग दाल में लगभग 24 ग्राम प्रोटीन पाया जाता है जो अंडे और चिकन के बदले उपयोग में लाया जा सकता है। यह पाचन को सही रखने और वजन कम करने में भी काफी सहायक है। मूँग दाल को अगर हम मूँगफली और 4-5 बादाम के साथ भीगा कर फिर इसका सेवन करें तो हमें प्रोटीन आवश्यकता अनुसार पूरी मात्रा में आसानी से मिल जाएगा।

5.सोयाबीन बड़ी –

सोयाबीन की बड़ी की क्या ही बात करें, यह तो प्रोटीन का भंडार है। 100 ग्राम बिना पकी हुई सोयाबीन की बड़ी में लगभग 52 ग्राम प्रोटीन मौजूद होता है । अब आप इससे अंदाजा लगा ही सकते हैं की यह अकेले हमें प्रोटीन की कितनी मात्रा प्रदान कर सकता है। इसका सेवन हम इसे रोस्ट करके भी कर सकते हैं। इसके अलावा हम सोयाबीन के बीज का उपयोग भी प्रोटीन स्तोत्र के लिए कर सकते हैं। 100 ग्राम सोयाबीन के बीज में लगभग 12.30 ग्राम के आसपास प्रोटीन मौजूद होता है। हम इसके बीज का सेवन भीगा कर भी कर सकते हैं। इसके अलावा सोयाबीन फाइबर का भी एक बहुत अच्छा स्तोत्र है।

6.कद्दू का बीज –

कद्दू का बीज भी प्रोटीन का एक ऐसा स्तोत्र है जिसका 100 ग्राम एक अंडे का स्थान लेने के लिए काफी है। 100 ग्राम कद्दू के बीज में लगभग 19 ग्राम प्रोटीन मौजूद होता है। हम कद्दू के बीज का सेवन उसे रोस्ट करके या ऐसे भी कर सकते हैं। इसके अलावा इसमें बहुत से पोषक तत्व भी मौजूद होते हैं जो हमें सेहतमंद भी रखते है और बीमारियों से भी बचाते हैं।

7.चना –

चना प्रोटीन और फाइबर से भरपूर होता है। 100 ग्राम काले चने में लगभग 20 ग्राम प्रोटीन मौजूद होता है और लगभग 12-13 ग्राम फाइबर होता है। चने का सेवन हम इसे भीगा कर करें तो यह बहुत ही फायदेमंद ही होता है। हम चाहे तो इसे रोस्ट करके भी सेवन से कर सकते हैं। इसके अलावा हम काबुली चने का सेवन भी प्रोटीन के लिए कर सकते हैं, 100 ग्राम काबुली चने में लगभग 8 ग्राम प्रोटीन मौजूद होता है।

8.राजमा –

राजमा की सब्जी और चावल का क्या ही कहें हर किसी के मुँह में पानी आ जाता है। 100 ग्राम राजमा में लगभग 24 ग्राम के आसपास प्रोटीन मौजूद होता है। राजमा को हम किडनी बीन्स के नाम से भी जानते हैं। प्रोटीन के साथ- साथ यह फाइबर का भी बहुत ही अच्छा स्तोत्र है। हम राजमा का सेवन इसे भीगा कर करें तो बहुत ही ज्यादा फायदेमंद होगा। यह मसल्स के लिए काफी फायदेमंद है।

9.ब्रोकली –

अगर हम सब्जियों की बात करें तो ब्रोकली में 1 कप ब्रोकली या लगभग 91 ग्राम ब्रोकली में लगभग 2.8 -3 ग्राम तक प्रोटीन मौजूद होता है। ब्रोकली को हम रोस्ट करके या सलाद के रूप में इसका सेवन कर सकते हैं। यह प्रतिरक्षा प्रणाली को काफी मजबूत भी बनाता है और बहुत सी बीमारियों से भी बचाता है।

10.ओट्स –

ओट्स फाइबर का बहुत ही अच्छा स्तोत्र है, लेकिन इसमें प्रोटीन भी मौजूद होता है और यह हमें वजन कम करने भी काफी मदद करता है। इसके अलावा ओट्स में अन्य पोषक तत्व भी मौजूद होते हैं जो की हमें बीमारियों से दूर रखते हैं और प्रतिरक्षा प्रणाली को भी मजबूत रखते हैं। फाइबर की मात्रा ज्यादा होने की वजह से यह पाचन को भी अच्छा रखता है।100 ग्राम ओट्स में लगभग 13-14 ग्राम प्रोटीन मौजूद होता है।

 

हम चाहें तो आसानी से इन सभी स्तोत्रों से प्रोटीन प्राप्त कर सकते हैं। और जो लोग शाकाहारी हैं वह आसानी से अपने शरीर को प्रोटीन की कमी से बचा सकते हैं। अपनी आवश्यकता अनुसार हमें इनका सेवन अवश्य ही करना चाहिए। प्रोटीन के साथ- साथ यह सभी खाद्य पदार्थ हमें बीमारियों से बचाने में भी काफी सहायक है और हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली को भी मजबूत बनाते हैं।हाल में ही कोरोना जैसी महामारी से संक्रमित होने पर प्रोटीन से भरपूर खाने का सेवन करने को कहा जाता था, इसलिए चाहें हम किसी बीमारी से संक्रमित हो या ना हो संतुलित मात्रा में सभी आवश्यक पोषक तत्वों का सेवन हमारे शरीर के लिए अति-आवश्यक है।

अन्य पढ़े – 

कुछ पादप आधारित खाद्य पदार्थ जिनका सेवन हर हफ्ते करना चाहिए

यह कोविड 19 है या फ्लू

ओमेगा-3 फैटी एसिड युक्त खाद्य पदार्थ एवं उनके फायदे

Leave a Reply

Your email address will not be published.