बीमारियों से बचने के लिए खाएं ये अनोखी चीजें | Eat these unique foods to avoid diseases in hindi

किसी भी बीमारी से बचने या बीमारी से उबरने में हम जो खाना या भोजन खाते हैं उसकी बहुत अहम भूमिका होती है

हम जो भोजन या खाद्य पदार्थ लेते हैं उनमें मौजूद पोषक तत्व हमें स्वस्थ रखते हैं। जिस कोरोना वायरस से आज दुनिया का बच्चा-बच्चा परिचित हो चुका है, उसने दुनिया में तबाही मचा रखी थी । हर बार यह अपना रूप बदल कर हमें संक्रमित करने आ जाता है। इस तरह अन्य वायरस से बचने के लिए सबसे पहले हमें अपने खान-पान की दिनचर्या और अच्छे खान-पान का चयन करना बहुत जरूरी है। वायरस से बचने के लिए ऐसे खाद्य पदार्थों का सेवन करना चाहिए जो हमारे इम्यून सिस्टम को मजबूत रखें और हमें जीवित रहने और बीमारियों से लड़ने की क्षमता प्रदान करें। कोरोना वायरस का डेल्टा संस्करण भी बेहद खतरनाक और संक्रामक था, लेकिन अब कोरोना के नए संस्करण, जिसे ओमीक्रॉन के नाम से जाना जाता है, की तुलना डेल्टा से की जा रही है। यह बहुत तेजी से प्रसारित हो रहा है।  इसलिए इस तरह अन्य वाइरस  बचने के लिए हमें पहले से ही कुछ उपाय करने होंगे, जिसमें सबसे पहले बात शुरू होगी हमारे खान-पान से।

1. ताजे फल और सूखे मेवों का सेवन –

फलों और सूखे मेवों का सेवन करना हमारे लिए बहुत जरूरी है, फलों और सूखे मेवों में महत्वपूर्ण एंटीऑक्सीडेंट प्रचुर मात्रा में होते हैं और ये हमें फ्री रेडिकल्स जैसे हानिकारक तत्वों से बचाते हैं। फलों में आवश्यक पोषक तत्व इसमें विटामिन और मिनरल्स जैसे तत्व मौजूद होते हैं जो हमारे इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाते हैं। विटामिन सी युक्त फलों का सेवन करना चाहिए। यह हमें स्वस्थ रहने में बहुत मदद करता है। बीमारी फैलाने वाले virus से बचने के लिए हमें सभी मौसमी फलों के साथ-साथ सूखे मेवों का भी संतुलित मात्रा में सेवन करना चाहिए ताकि हम अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत कर सकें और बीमारियों से बच सकें।

इसे भी पढ़े  रूसी या डैंड्रफ को ठीक करने में प्रभावी कुछ प्राकृतिक भोजन एवं कुछ औषधीय पौधे|Rusi ya dandruff ko thik karne me prabhavi kuch prakritik bhojan evam kuch aushadhiya poudhe

2. बाहर का खाना और जंक फूड से परहेज –

हमें जंक फूड, बाहर का खाना और पैकेज्ड फूड के सेवन से बचना चाहिए, ये हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत हानिकारक होते हैं और इनमें किसी भी प्रकार के पोषक तत्व नहीं होते हैं। यह हमारे शरीर में कोलेस्ट्रॉल का स्तर है वह असंतुलित हो सकता है. बाहर की चीजें साफ-सफाई से नहीं की जातीं, जिससे कभी-कभी बीमारी हो सकती है। कई बार जब होटल, रेस्तरां जैसी खाने-पीने की जगहों पर बहुत भीड़ होती है तो वहां कोई संक्रमित होता है।
यदि व्यक्ति मौजूद है तो उसके चिल्लाने और खांसने से निकली बूंदें स्वस्थ व्यक्ति को संक्रमित कर सकती हैं। जंक फूड या बाहर का खाना हमें कई बार नुकसान पहुंचा सकता है और हमें बीमार कर सकता है.

3. घर पर बने फाइबर युक्त भोजन का सेवन –

अक्सर जब भी हम बाहर का खाना खाकर बीमार पड़ते हैं तो हमें घर का खाना याद आता है। इसलिए हमें हमेशा घर का बना खाना ही खाना चाहिए, जो हमारी सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होता है। हम सब अपने भोजन में पोषक तत्वों से भरपूर दालें और हरी सब्जियां खानी चाहिए ताकि हमारा इम्यून सिस्टम मजबूत हो और हम बीमारियों से बचे रहें। हमें फाइबर युक्त भोजन करना चाहिए ताकि भोजन आसानी से पच सके और हमें सभी पोषक तत्व मिल सकें। यह आसानी से शरीर में प्रवेश कर सकता है, जिससे हमारा इम्यून सिस्टम मजबूत होता है। हमें आहार में हरी पत्तेदार सब्जियां जैसे पालक, ब्रोकोली, पत्तागोभी और कद्दू का सेवन करना चाहिए। सब्जियों को पकाने से पहले अच्छी तरह धोना चाहिए फिर अच्छी तरह से  पकाना चाहिए।जिससे बीमार होने की संभावना कम हो जाती है

इसे भी पढ़े  प्रोटीन, विटामिन और एंटिओक्सीडेंट्स से भरपूर भोजन और फल। Protein, vitamin aur antioxidants se bharpur bhojan aur fal

4. भूख से ज्यादा खाने से बचें –

कभी भी भूख से ज्यादा खाना नहीं खाना चाहिए, इससे ना सिर्फ हमारा वजन बढ़ता है बल्कि हमारी पाचन क्रिया भी धीमी हो जाती है और खाना ठीक से पच नहीं पाता और हमारे शरीर को जरूरी पोषक तत्व नहीं मिल पाते। इससे हमारा इम्यून सिस्टम कमजोर हो सकता है और हम बीमारियों की चपेट में आ सकते हैं। इसलिए कोरोना काल में हमें खान-पान का विशेष ख्याल रखना चाहिए. ऐसा भोजन करें जो आसानी से पच सके।

Important Links

Join Our Whatsapp Group Join Whatsapp

5. चीनी और नमक की संतुलित मात्रा –

चीनी और नमक की असंतुलित मात्रा भी हमारे लिए बहुत हानिकारक होती है। अत्यधिक नमक का सेवन हमें उच्च रक्तचाप से पीड़ित कर सकता है और यदि हम किसी अन्य संक्रामक रोग से संक्रमित हो जाते हैं, तो हमें इसका ध्यान रखना होगा क्योकि यह भी समस्या का कारण बन सकता  है।  इसी तरह चीनी का अधिक सेवन हमारे रक्त में शर्करा के स्तर को बढ़ा सकता है। कोरोना संक्रमित अधिकतर लोग उच्च रक्तचाप या मधुमेह से पीड़ित थे,

जिसका कारण था उनका इम्यून सिस्टम पहले से ही कमजोर था और वह कोरोना जैसी महामारी से संक्रमित होने के बाद जीवित रहने के लिए संघर्ष कर रहे थे। इसलिए अनावश्यक मात्रा में नमक का सेवन करने से बचें और भले ही इसे संतुलित मात्रा में ही लें यह चीनी है या नमक? संतुलित आहार हमें कोरोना जैसी बीमारी से लड़ने और अन्य संक्रामक बीमारियों से बचने में मदद करता है, इसलिए हमेशा खान-पान पर विशेष ध्यान देना चाहिए।

इसे भी पढ़े  जंक फूड: भोजन जो हमें मार रहें हैं |Junk Food: The Foods That Are Killing Us

6. जूस और पानी का अधिक सेवन –

मौसमी फलों के जूस का सेवन हमें ऊर्जा के साथ-साथ एंटीऑक्सीडेंट भी प्रदान करता है और हाइड्रेटेड भी रखता है। हमारे शरीर में पानी की मात्रा बहुत महत्वपूर्ण है। यह हमें पूरे दिन हाइड्रेटेड रखता है क्योंकि ओमीक्रॉन कुछ रोगियों में दस्त के लक्षण भी देखे गए हैं, इसलिए यह उस अवस्था में शरीर में पानी की कमी नहीं होने देता है। पानी हमारे शरीर में भोजन के पाचन में भी सहायक पदार्थ है और शरीर में मौजूद विषैले और हानिकारक तत्वों को बाहर निकालता है।

7. व्यायाम और योग –

किसी वायरस से संक्रमित व्यक्ति के फेफड़ों पर सबसे ज्यादा असर देखा गया है। सर्दी-खांसी के साथ यह वायरस सीधे हमारे फेफड़ों पर हमला करता है, इसलिए व्यायाम और योग करना बहुत जरूरी है। फेफड़ों को मजबूत बनाता है और हमारे इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाता है, जिससे हम कोरोना जैसी महामारी से लड़ने में सक्षम हो जाते हैं। हमेशा स्वस्थ रहने के लिए हमें योग और व्यायाम जरूर करना चाहिए। जिससे हम किसी भी बीमारी से बच सकें।

कोई भी बीमारी हो, उससे बचने का पहला कदम हमारे खान-पान, हमारे रहन-सहन पर निर्भर करता है, इसलिए दैनिक जीवन में खान-पान का ध्यान रखें।

अन्य पढ़े – 

Leave a Comment

Important Links

Join Our Whatsapp Group Join Whatsapp