प्रोटीन, विटामिन और एंटिओक्सीडेंट्स से भरपूर भोजन और फल। Protein, vitamin aur antioxidants se bharpur bhojan aur fal

प्रोटीन, विटामिन और एंटिओक्सीडेंट्स से भरपूर भोजन और फल (Foods and fruits rich in proteins, vitamins and antioxidants)

स्वस्थ रहना और स्वस्थ जीवन जीना किसे पसंद नहीं। हर कोई चाहता ही है की भागदौड़ भरी इस दुनिया में हम स्वस्थ और निरोगी रहें। तो उसके लिए हमें अपने खान-पान पर ध्यान देना होगा, आज हम बात करेंगे कुछ ऐसे फूड्स और फ्रूट्स की जो हमें स्वस्थ रखने में बहुत सहायक है।

1.प्रोटीनयुक्त भोजन-

1.चिकन (Chicken) –

इसमें काफी मात्रा में प्रोटीन पाया जाता है, साथ ही इसमें विटामिन बी12, जिंक, आइरन भी पाया जाता है। एक बोनलेस चिकन में प्रचुर मात्रा में कैलोरी भी पाई जाती है। यह हमारे बोन्स, मसल्स को स्ट्रॉंग बनाता है। वजन को सही रखता है और मूड को सही रखता है। अगर हम प्रोटीनयुक्त चिकन का सेवन करते हैं तो यह वजन के साथ- साथ हमारे हृदय को भी स्वस्थ रखता है।

2.फिश (Fish)-

फिश या मछ्ली के सेवन के इतने सारे फायदे हैं की हम कई बीमारियों से बचते हैं। इसमें ओमेगा-3 फैटी एसिड मौजूद होता है, विटामिन डी मौजूद होता है। और सबसे महत्वपूर्ण बात की यह निम्न फैट युक्त प्रोटीन से भरपूर होता है, मतलब यह प्रोटीन का बहुत ही अच्छा स्तोत्र है। यह हमें बहुत सी बीमारियों से भी बचाता है। यह हृदय रोग, मानसिक तनाव, स्ट्रोक, अल्जाइमर, पिंपल, कॉलेस्ट्रोल के लेवल को संतुलित करने, कैंसर, उच्च रक्तचाप जैसे कई बीमारियों के खतरों से हमें दूर रखता है और हमें स्वस्थ रखता है। इसलिए यह चिकन का एक बेहतर विकल्प है।

इसे भी पढ़े  सुगंधित तेलों का भाप के साथ उपयोग |Sugandhit telon ka bhap ke sath upyog

3.एग (Egg)-

यह भी प्रोटीन का एक बहुत अच्छा स्तोत्र है। यह गुड कॉलेस्ट्रोल को बढ़ाने का कम करता है साथ ही हमारे शरीर में विटामिन D का एक अच्छा स्तोत्र है। प्रायः अंडे के सफेद भाग का उपयोग करना चाहिए।

4.डेयरी उत्पाद (Dairy Products) –

हम डेयरी उत्पादों का उपयोग वजन को संतुलित करने में तो करते ही हैं, साथ ही यह प्रोटीन का एक बहुत अच्छा विकल्प है। चाहे फिर कोई वेजिटेरियन हो या नॉन-वेजिटेरियन। यह हड्डियों के निर्माण में और उन्हें मजबूत बनाने में काफी सहायक है। डेयरी उत्पादों में कैल्सियम, विटामिन D और पोटैसियम जैसे अन्य पोषक तत्व भी मौजूद होते हैं।

Important Links

Join Our Whatsapp Group Join Whatsapp

इसके अलावा हम लो फैट चीज (Chees) का भी उपयोग प्रोटीन के लिए कर सकते हैं।

2.विटामिन और एंटिओक्सीडेंट्स से भरपूर ड्राइफ्रूट्स और फल (Dryfruits and fruits rich in vitamins and antioxidants) –

1.संतरा (Orange) –

अब विटामिन और एंटिओक्सीडेंट्स से भरपूर खाद्य पदार्थों की क्या ही बात कहें। संतरे में भरपूर मात्रा में विटामिन C उपस्थित होता है जो की एक एंटिऑक्सीडेंट है। यह हमारे शरीर से आइरन को एनीमिया से बचाव के लिए प्रेरित करता है। हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत बनाता है। हमारी कोशिकाओं के निर्माण में भी यह अपनी भूमिका निभाते हैं।

2.नींबू (Lemon) –

नींबू में भी प्रचुर मात्रा में विटामिन C मौजूद होता जो की खुद विटामिन के साथ-साथ एक एंटिऑक्सीडेंट है । इसके अलावा कॉपर, पोटेशियम, जिंक, मैग्निसियम, विटामिन बी6 पाया जाता है। इसके साथ ही इसमें फ्लावोनोइड्स (Flavonoids)भी मौजूद होता है। यह भी शरीर में आइरन के अवशोषण में भी सहायक है। यह हमें वजन संतुलित करने में, हमारे हृदय को स्वस्थ रखने में, हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत रखने में, पाचन को मजबूत एवं सही रखने में , कैंसर से बचाव में, त्वचा को अच्छा रखने में काफी सहायक है। यह हमारे लिए अन्य कई रोगों से बचाव में जैसे स्कर्वी रोग भी सहायक है।

इसे भी पढ़े  बिना प्रोटीन पाउडर (प्रोटीन सप्लिमेंट्स) के वजन बढ़ाने के असरदार तरीके | Effective Ways to Gain Weight Without Protein Powder (Protein Supplements)

3.बादाम (Almond) –

बादाम पोषक तत्वों का एक बहुत ही अच्छा स्तोत्र है। इसमें प्रोटीन, फाइबर, विटामिन E,मैंगनीज और मैग्निसियम जैसे तत्व मौजूद होते हैं। इसके अलावा यह एंटिओक्सीडेंट्स (Antioxidants) से भरपूर रहता है। बादाम हमारे लिए काफी फायदेमंद होता है। बादाम हमारे वजन को संतुलित रखने, कैंसर से बचाव, त्वचा और बालों के लिए काफी ही ज्यादा फायदेमंद है। यह हमारी हड्डियों को मजबूत बनाता है, ब्लड शुगर लेवल और कॉलेस्ट्रोल लेवल को संतुलित रखता है। हमारे हृदय के लिए बहुत ही अच्छा है। हृदय रोगों से बचाव और अल्जाइमर जैसे बीमारियों के खतरों को कम करने मेन सहायक है।

4.सेब (Apple) –

यह भी विटामिन C से भरपूर होता है, इसके अलावा इसमें कार्ब, फाइबर, विटामिन K और पोटैसियम मौजूद होता है। यह भी हमारे हृदय के लिए, वजन कम करने के लिए, मधुमेह के खतरे को कम करने में सहायक है। यह प्रीबायोटिक की तरह काम करता और अच्छे गट बैक्टीरिया को बढ़ाने का काम करता है और कैंसर के खतरे को कम करता है। यह हमारी हड्डियों के लिए अच्छा होता है और इसमें एंटिऑक्सीडेंट भी मौजूद जो अस्थमा से लड़ने में सहायक है। और यह हमारे स्टमक (Stomach)
को NSAIDs से होने वाले नुकसान से भी बचाता है।

5.अनार (Pomogranate) –

अनार में भी विटामिन C भरपूर मात्रा में मौजूद जो की एक एंटिऑक्सीडेंट है। यह भी कैंसर से हमारा बचाव करता है, अल्जाइमर जैसी बीमारी से हमारा बचाव करता है। पाचन को सही रखता है। आर्थराइटिस और हृदय रोगों से हमारा बचाव करता है। उच्च रक्तचाप में, मधुमेह को संतुलित रखने में काफी सहायक है साथ ही याददाश्त को बढ़ाने में भी सहायक है।

इसे भी पढ़े  इम्यूनिटी बढ़ाएं, बीमारियों को दूर भगाएं: डाइट और प्राणायाम के टिप्स | Increase immunity, drive away diseases: tips of diet and pranayama in Hindi

6.अनानास (Pinapple) –

अनानास विटामिन C का एक बहुत ही अच्छा स्तोत्र है। यह एंटिऑक्सीडेंट्स से भरपूर होता है। यह फाइबर, फोलेट, नियासीन, कॉपर, थायामिन, आइरन, राइबोफ्लेविन जैसे विटामिन और मिनेरल्स से भी भरपूर होता है। यह हमें कैंसर जैसे बीमारी से दूर रखने में सहायक है। इसमें एंजाइम्स भी मौजूद होते हैं जो हमारे पाचन में सहायक होते हैं। हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत बनाता अहि इन्फ्लामेसन (Inflammation) को कम करता है।

7.एवोकैडो (Avocado) –

इस फल का क्या ही कहना। विटामिन C, K, E और बी 6 से भरपूर साथ ही फोलेट, नियासीन, मैग्निसियम, पैंटोंथेनीक एसिड, मैग्निसियम और पोटैसियम अन्य विटामिन और मिनेरल्स भी मौजूद होते हैं। यह हमारे हृदय, आँखों, हड्डियों के लिए काफी अच्छा होता है और बीमारियों से दूर रखता है। तनाव को कम करता है। इसमें मौजूद एंटिऑक्सीडेंट कैंसर से बचाव करता है और शरीर को डीटोक्सिफाई (Detoxify) करता है। पाचन को अच्छा रखता है, खतरनाक बीमारियों से बचाव करता है और इसमें एंटिमाइक्रोबियल गुण भी मौजूद होता है जो बीमारियों से बचाव करता है।

यह कुछ ऐसे भोज्य पदार्थ और फल हैं जो हमारे लिए काफी लाभदायक हैं।

अन्य पढ़े – 

महिलाएँ और हृदय रोग

हमेशा थका होना – क्या स्लीप एपनिया के लक्षण हैं त्वचा को सुरक्षित कैसे रखें- त्वचा का ख्याल आपके हाथों में

मास्क पहन कर कूल कैसे रहें और क्यों है जरूरी

किडनी फ़ेल्युर क्या है, प्रकार, लक्षण, कारण और उपचार

Leave a Comment

Important Links

Join Our Whatsapp Group Join Whatsapp