ग्रीन टी के फायदे एवं नुकसान|Green tea ke fayde evam nuksaan

ग्रीन टी के फायदे एवं नुकसान (Advantages and disadvantages of green tea) –

दोस्तों वैसे तो हर किसी ने ग्रीन टी के बारे में सुना होगा और इसका सेवन भी किया होगा। लेकिन कुछ लोगों को लगता है की इसके सेवन से कोई असर या फर्क नहीं पड़ रहा और कुछ लोग इसका सेवन तो करते हैं लेकिन दूसरों की बात मानकर। उन्हें नहीं पता होता है की क्योंऔर किस वजह से हमें ग्रीन टी का सेवन करना चाहिए, बस वो सुनी हुई चीजों को मानकर इसका उपयोग शुरू कर देते हैं। इसलिए आज हम बात करेंगे ग्रीन टी के फायदे और नुकसान के बारे में।

ग्रीन टी –

ग्रीन टी कैमेलिया साइनेंसिस (Camellia sinensis) नामक पौधों की पत्तियों से प्राप्त होता है। इसमें कटेचिंस (Catechins) नामक एक तत्व पाया जाता है जिसे हम पॉलीफेनोल (Polyphenol) भी बोलते हैं,जो की एक पावरफूल एंटिऑक्सीडेंट है।

ग्रीन टी के फायदे –

हमारे शरीर में ग्रीन टी के सेवन के कई फायदे होते हैं।

1. त्वचा के लिए –

जैसे की हमने देखा ग्रीन टी में एंटिओक्सीडेंट्स प्रचुर मात्रा में मौजूद होते हैं । शोधों के अनुसार यह त्वचा को कैंसर से प्रोटेक्ट करते हैं और स्किन एजिंग (Skin Aging) को समय से पूर्व रोकने में काफी सहायक है। यह त्वचा में होने वाली रेडनेस (Redness) और इरिटेसन (Irritation) को कम करने, एक्ने या पिंपल्स को रोकने में सहायक है। साथ ही यह स्किन को मॉइस्चराइज करता है।

इसे भी पढ़े  10 खाद्य पदार्थ जो दे माहवारी में आराम|10 Foods That Give Comfort During Menstruation in Hindi

2.बालों के लिए –

ग्रीन टी में एंटि-इन्फ़्लामेटरी (एंटि-inflammatory) गुण मौजूद होता है, जो डैनड्रफ (Dandruff) होने से स्काल्प (Scalpe) में होने वाली खुजली को रोकता है। यह स्काल्प में ब्लड सरकुलेशन को बढ़ाता है, बालों को बढ़ने में मदद करता है, बालों को मजबूत बनाता है और झड़ने से रोकता है।

Important Links

Join Our Whatsapp Group Join Whatsapp

3.शांत मन के लिए-

जैसा के हम सभी जानते हैं ग्रीन टी में कैफीन मौजूद होता है, जो की हमारे माइंड को रिलैक्स करने का काम करता है ,साथ ही यह हमें डिप्रेसन से भी दूर रखता है। वैसे तो चाय हमें हमेशा फ्रेश फील कराती है, पर चाय हमेशा ऐसी होने चाहिए जो हमारी सेहत के लिए भी लाभदायक हो।

4.वजन कम करने के लिए –

ग्रीन टी में बहुत से पोषक तत्व और एंटि-ओक्सीडेंट्स मौजूद होते हैं जो हमारे शरीर में अतिरिक्त चर्बी को कम करने में सहायक है, अगर हम योग या व्यायाम के साथ इसका सेवन करते हैं तो। यह बैली फैट को भी कम करता है। अगर हमारे शरीर में जरूरत से ज्यादा फैट हो तो यह हमारे लिए हृदय रोग का कारण बन सकता है। ग्रीन टी में मौजूद एंटि-ओक्सीडेंट्स मधुमेह में बनने वाले फ्री रैडिकल जैसे हानिकारक तत्वों को भी बनने से रोकते हैं।

ग्रीन टी के ज्यादा सेवन के नुकसान –

किसी भी पदार्थ की अत्यधिक मात्रा हमें नुकसान पहुँचा सकती है। ग्रीन टी पीने के कुछ फायदे हैं तो कुछ नुकसान भी हैं। जैसा की हम जानते हैं की ग्रीन टी में कैफीन मौजूद होता है तो इसके अत्यधिक सेवन से हमारी नींद में दिक्कत आ सकती है, स्टमक प्रॉब्लेम (Stomach) हो सकती है, हेडेक (Headache) हो सकता है, जी मिचलाना या उल्टी होना, आइरन की कमी या अनिमिया (Anemia) जैसी बीमारी से ग्रसित होना जैसे दिक्कत आ सकती है। साथ ही यह हमारे हृदय की गति या रक्तचाप को भी डिस्टर्ब कर सकता है और हमारे लिवर को भी डैमेज कर सकता है। इसलिए ग्रीन टी में मौजूद कैफीन की मात्रा के हिसाब से हमें ग्रीन टी का सेवन करना चाहिए।

इसे भी पढ़े  अपनी मांसपेशियों को बढ़ाएं और अपने शरीर को स्वस्थ बनाएं: 10 टिप्स और 10 खाद्य पदार्थ | Increase Your Muscles and Make Your Body Healthy: 10 Tips and 10 Foods in Hindi

ग्रीन टी के सेवन का सही समय –

आप ग्रीन टी का सेवन सुबह और रात दोनों वक्त कर सकते हैं।  सुबह अगर आप वर्कआऊट करना चाहते हैं तो दिन की शुरुवात आप इससे कर सकते हैं। हम इसे रात में भी ले सकते हैं, क्योंकि रात को खाने के बाद हम में से कई लोग कोई एक्टिविटी नहीं करते और सोने चले जाते हैं जिससे एक्सट्रा कैलोरी बर्न नहीं पाती इसलिए इसका सेवन हम रात में भी कर सकते हैं। ग्रीन टी हमारे डाइजेसन को भी अच्छा रखता है। वैसे तो ग्रीन टी के काफी फायदे हैं, लेकिन खाली पेट या खाने के बाद भी इसका अधिकता में सेवन करना सही नहीं है। इसलिए मात्रा का हमेशा ध्यान रखें।

अन्य पढ़े – 

7 चाय जो चिंता को शांत करने में मदद कर सकते हैं

प्रोटीन, विटामिन और एंटिओक्सीडेंट्स से भरपूर भोजन और फल

हमेशा थका होना – क्या स्लीप एपनिया के लक्षण हैं त्वचा को सुरक्षित कैसे रखें- त्वचा का ख्याल आपके हाथों में

Leave a Comment

Important Links

Join Our Whatsapp Group Join Whatsapp