इम्यूनिटी बढ़ाएं, बीमारियों को दूर भगाएं: डाइट और प्राणायाम के टिप्स | Increase immunity, drive away diseases: tips of diet and pranayama in Hindi

अगर आपका इम्यून सिस्टम मजबूत है तो आप हर तरह के वायरस से लड़ सकते हैं और बीमारियों से खुद को बचा सकते हैं।

अगर आपका इम्यून सिस्टम मजबूत है तो आपको किसी भी प्रकार की बीमारी नहीं होगी। आज इस पोस्ट में हम इम्यून सिस्टम को मजबूत रखने के लिए आहार और प्राणायाम के बारे में बताएंगे।

हल्दी –

हल्दी में एंटीऑक्सीडेंट, एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटी-माइक्रोबियल गुण होते हैं। यह आपको कैंसर से बचाता है और पाचन तंत्र को मजबूत बनाता है। अगर आप दूध में हल्दी डालकर पीते हैं तो इससे काफी फायदा होता है। आप चाहें तो गर्म पानी में हल्दी मिलाकर भी पी सकते हैं. जब आप काली मिर्च को हल्दी के साथ मिलाते हैं तो यह बहुत फायदेमंद हो जाता है। यह हमारे इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाता है। हल्दी सर्दी-जुकाम को ठीक करने में भी मदद करती है। इसके अलावा अगर आपके शरीर पर चोट लग जाए और आप वहां हल्दी लगा लें तो यह ठीक हो जाती है। दूध में हल्दी मिलाकर पीने से अंदरूनी दर्द में आराम मिलता है, अगर आपके शरीर में कोई दर्द है तो यह उसे ठीक कर देता है। हल्दी त्वचा संबंधी समस्याओं को भी ठीक करने में मदद करती है। इसे नियमित रूप से पीने से फ्री रेडिकल्स से लड़ने में मदद मिलती है। बायोकेमिस्ट्री और बायोफिजिकल की रिसर्च के मुताबिक यह डायबिटीज को कंट्रोल करने में मदद करता है।

इसे भी पढ़े  ओमेगा-3 फैटी एसिड युक्त खाद्य पदार्थ एवं उनके फायदे|Omega-3 fatty acid rich foods and their benefits in Hindi

नींबू पानी –

नींबू पानी आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है। विटामिन-सी हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता को तेजी से बढ़ाता है। इससे इम्यून सिस्टम स्वस्थ रहता है।  यह हमें वायरस से लड़ने में मदद करता है। नींबू में विटामिन-सी अच्छी मात्रा में होता है। इसे अपने आहार में शामिल करना चाहिए। आप दिन में एक या दो बार नींबू पानी पी सकते हैं। अगर आप इसमें चीनी मिलाते हैं तो इसे केवल एक बार ही पियें।

नींबू पानी भोजन को पचाने में मदद करता है और आपके शरीर से सभी विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालता है। अगर आप खाने के बाद नींबू पानी का सेवन करते हैं तो आपका खाना आसानी से पच जाएगा। शरीर आपके भोजन को आसानी से अवशोषित कर लेगा। वैसे तो नींबू पानी के कई फायदे हैं। नींबू पानी भी आपको कब्ज दूर करने में मदद करता है, आप इसे अपनी डाइट में जरूर शामिल करें। गर्मी के दिनों में आप शीतल पेय पीते हैं जिसमें सोडा होता है, नींबू पानी उससे बेहतर है। इसमें मौजूद विटामिन सी आपकी त्वचा के लिए बहुत अच्छा होता है, यह आपके चेहरे पर चमक लाता है।

लहसुन –

लहसुन में एंटीबायोटिक और एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं। यह आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली को बेहतर बनाता है। जब आपका इम्यून सिस्टम कमजोर हो जाए तो गुनगुने पानी के साथ लहसुन का सेवन करने से आपका इम्यून सिस्टम मजबूत हो जाता है।

Important Links

Join Our Whatsapp Group Join Whatsapp

यह आपके पाचन तंत्र को मजबूत बनाता है। यह कैंसर के वायरस से बचाता है। इसमें विटामिन-सी, विटामिन-ए, विटामिन-बी1, विटामिन-बी2, प्रोटीन, कैल्शियम, कॉपर, आयरन, फाइबर और कई विटामिन मौजूद होते हैं। अगर आपके पेट में किसी भी प्रकार का संक्रमण या विषाक्त पदार्थ है तो यह उसे ठीक करने में मदद करता है। इसे लहसुन और शहद के साथ मिलाकर खाने से बहुत फायदा होता है। यह आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली को वायरस से लड़ने में मदद करता है। अगर आप खाली पेट लहसुन खाते हैं तो यह आपके कोलेस्ट्रॉल और ब्लड प्रेशर को नियंत्रित रखता है। लहसुन त्वचा संबंधी समस्याओं को भी ठीक करने में मदद करता है। अगर आपके हाथों में दर्द है तो सरसों के तेल में लहसुन मिलाकर लगाने से आपका दर्द ठीक हो जाता है।

इसे भी पढ़े  हाई प्रोटीन डाइट का वैकल्पिक स्तोत्र - कोरोना से स्वस्थ होने में महत्वपूर्ण भागीदारी|High protein diet ka vaikalpik stotra-corona se swastha hone men mahatwapurn bhagidari

अदरक –

अदरक आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है। अदरक और हल्दी का पेस्ट बनाकर पानी पीने से बहुत फायदा होता है। अगर आप सुबह ग्रीन टी बनाते हैं तो उसमें अदरक मिला लें, इससे आपको वायरस से लड़ने में मदद मिलती है। अदरक का उपयोग हम अपने भोजन में भी करते हैं। अदरक एक प्राकृतिक प्रतिरक्षा प्रणाली बूस्टर है। इसमें एंटीऑक्सीडेंट भी होते हैं जो इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाते हैं।

अश्वगंधा और गिलोय-

अश्वगंधा और गिलोय आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियाँ हैं जिनका उपयोग हम अपनी प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करने के लिए करते हैं। अश्वगंधा आपके तनाव के स्तर को कम करता है और तनाव के कारण नींद न आने की समस्या होती है, अश्वगंधा इस समस्या को दूर करता है। इस जड़ी-बूटी का कोई साइड इफेक्ट नहीं है। आप अश्वगंधा को दूध में मिलाकर ले सकते हैं या फिर अश्वगंधा को पानी के साथ भी पी सकते हैं। गिलोय आपके पाचन को बेहतर बनाता है। वायरस से लड़ने में मदद करता है. आप इसका काढ़ा बनाकर भी पी सकते हैं.

प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ावा देने के लिए सर्वोत्तम प्राणायाम

कपालभाति प्राणायाम –

यह आपके पाचन तंत्र को मजबूत बनाता है। यह वजन कम करने में मदद करता है। इस प्राणायाम को आप 15 मिनट तक कर सकते हैं। यह वायरस से लड़ने का क्षमता पैदा करता है और आपको सभी बीमारियों से बचाता है साथ में  हमारे शरीर में  शक्तिशाली ऊर्जा उत्पन्न होती है। कपालभाति प्राणायाम ऑस्टियोपोरोसिस, एनीमिया, किडनी स्टोन आदि बीमारियों में बहुत लाभ पहुंचाता है।

भस्त्रिका प्राणायाम –

भस्त्रिका प्राणायाम करने से शरीर में ऑक्सीजन की कमी नहीं होती है। ऑक्सीजन हमारे पूरे शरीर में प्रवेश करती है। ऑक्सीजन हृदय, नाड़ी और सभी जीवों तक प्रचुर मात्रा में पहुंचती है। इस प्राणायाम को करने से इम्यून सिस्टम मजबूत होता है। इस प्राणायाम को करने से इम्यून सिस्टम मजबूत होता है और हमारे शरीर को ऊर्जा से भर देता है। मस्तिष्क कोशिकाएँ, त्वचा कोशिकाएँ, नेत्र कोशिकाएँ और रक्त कोशिकाएँ शरीर की सभी कोशिकाओं को पूर्ण ऑक्सीजन मिलती है। आपको जितनी अधिक ऑक्सीजन मिलेगी, आप पूरे दिन उतना ही ऊर्जावान महसूस करेंगे। इसे आप 1 से 10 मिनट तक कर सकते हैं. इस प्राणायाम में आपको सांस को अंदर और बाहर छोड़ना है। सांस को पेट में नहीं हृदय में भरना है।

इसे भी पढ़े  चिकनगुनिया की रिकवरी में प्रभावी कुछ बेस्ट हर्बल ड्रिंक्स | Some of the Best Herbal Drinks Effective in the Recovery of Chikungunya

अनुलोम-विलोम प्राणायाम-

अनुलोम-विलोम तनाव के स्तर को कम करता है। इससे आपके शरीर में ऊर्जा का संचार होगा और आपका इम्यून सिस्टम भी मजबूत होगा।

दोस्तों अगर आपको हमारा यह पोस्ट पसंद आया है तो इसे सभी के साथ शेयर करें ताकि सभी लोग रोग मुक्त रहें और इस वायरस से लड़ सकें।

अन्य पढ़े – 

Leave a Comment

Important Links

Join Our Whatsapp Group Join Whatsapp