खीरे खाने के फायदे | Benefits of eating cucumber in hindi

Contents hide

खीरे खाने के फायदे (benefits of eating cucumber) –

खीरा खाऊँ कचर- कचर, यह पाठ तो आपने भी अपने बचपन की किसी कक्षा की पुस्तक में पढ़ा होगा, लेकिन खीरा खाने के क्या-क्या फायदे हैं यह आज हम देखेंगे। खीरा एक ऐसा फल है, जी हाँ खीरा एक ऐसा फल है जिसे आप किसी भी उपवास में, व्रत में खा सकते हैं। कई बार खीरे की मिठास हमें इतनी अच्छी लगती है की अब क्या ही कहें। वैसे तो खीरा हमें लगभग हर मौसम में मिल जाता है, और सलाद के रूप में इसे खाने के साथ खाने में या फिर इसे नमक, मिर्च के साथ खाने की बात ही अलग है। खीरा हर वर्ग के लोगों को पसंद आता है, लेकिन अब हम ये बात करेंगे की कुछ लोग खीरे को छिल कर खाते हैं और कुछ लोग बिना छिले, लेकिन हमारे लिए फायदेमंद कौन सा खीरा है यह आज हम जानेंगे।

खीरे का नाम –

खीरे का वानस्पतिक नाम (Biological name) कुकुमिस सैटिवस (Cucumis sativus) है और यह कुकुरबिटेसी (Cucurbitaceae)परिवार (Family) से संबन्धित है। खीरे खाने के बहुत से फायदे हैं , साथ ही इसका सेवन हमें कई परेशानियों और बीमारियों से भी बचाता है। खीरा, ककड़ी और गाजर सलाद में सबसे ज्यादा उपयोग में आते हैं और हर किसी को पसंद भी आते हैं।

खीरे में पाये जाने वाले पोषक तत्व (Nutrients found in cucumbers) –

खीरे में बहुत से पोषक तत्व मौजूद होते हैं जो हमारे लिए काफी फायदेमंद हैं, लेकिन उससे भी ज्यादा उपयोगी हमारे लिए इसमें मौजूद पानी की मात्रा है। इसमें मैक्रोन्यूट्रिएंट (macronutrient) और माइक्रोन्यूट्रिएंट (micronutrient)दोनों मौजूद होते हैं हो हमारी सेहत के लिए काफी फायदेमंद होते हैं।

इसे भी पढ़े  कुछ महत्वपूर्ण औषधीय पौधे एवं रोगों  के उपचार में उनका उपयोग | Kuch mahatvapurn aushadhiya paudhe evam rogo ke upchar mein unka upyog

1.मैक्रोन्यूट्रिएंट (macronutrient) –

इसमें जीरो की मात्रा में फैट (Fat) मौजूद होता है जो की हमारे बहुत ही अच्छा है, इसके अलावा इसमें कार्बोहाइड्रेट और प्रोटीन भी मौजूद होता है हो हमारे लिए सेहतमंद है, अगर हम लगभग 100 ग्राम खीरे की बात करें तो इसमें लगभग कुल कार्बोहाइड्रेट (Carbohydrate) 4 ग्राम के आसपास और प्रोटीन (Protein) 0.5 से 0.6 ग्राम के आसपास मौजूद होता है । साथ ही इसमें 2 ग्राम के आसपास फाइबर भी मौजूद होता है, जो हमारे लिए काफी लाभदायक है।

2.माइक्रोन्यूट्रिएंट (micronutrient)-

माइक्रोन्यूट्रिएंट (micronutrient)जो होते हैं काफी सूक्ष्म मात्रा (Small amount) में मौजूद होते हैं लेकिन हमारे शरीर के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण होते हैं । खीरे में पाये जाने वाले माइक्रोन्यूट्रिएंट (micronutrient)हैं जैसे विटामिन सी (Vitamin C), विटामिन के (Vitamin K), मैग्निसियम विटामिन ए (Vitamin A), (Magnesium), मैंगनीज (Manganese) और पोटैसियम (Potassium) मौजूद होते हैं। यह सभी तत्व हमारे स्वास्थ्य के लिए काफी लाभदायक होते हैं।

Important Links

Join Our Whatsapp Group Join Whatsapp

यह तो बात हुई पोषक तत्वों की जो खीरे में पाये जाते हैं, अब हम देखेंगे की खीरे खाने के क्या क्या फायदे हैं।

खीरे के सेवन के फायदे (Benefits of cucumber consumption) –

1.प्रतिरक्षा प्रणाली (Immune system) –

क्योंकि खीरे में लगभग 95 प्रतिशत पानी मौजूद होता है , साथ ही इसमें सुख्म मात्रा में विटामिन सी, विटामिन ए और विटामिन के मौजूद होता है, तो यह हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत बनाए रखता है जिससे हम रोगों से बचते हैं। इसमें मौजूद पानी की मात्रा हमारे शरीर से विषैले (Toxic) पदार्थों को बाहर करता है , जिसकी वजह से हमारा शरीर और वृक्क (Kidney) दोनों स्वस्थ रहते हैं।

2. फ्री रैडिकल्स से बचाव (Prevention of free radicals) –

जैसे की मैंने पहले भी अपनी कई पोस्ट में आपको इस चीज से अवगत कराया है की विटामिन सी एक बहुत ही शक्तिशाली (Powerful) एंटि-ऑक्सीडेंट (Antioxidant) है, जो की हमारे शरीर में मौजूद प्रतेयक कोशिकाओं और ऊतकों (Cells and tissues) को हानिकारक फ्री रैडिकल्स (free radicals)से हमारा बचाव करता है और किसी भी प्रकार की क्षति से हमें बचाता है। फ्री रैडिकल्स एजिंग (Ageing) मतलब की वृद्धावस्था को बढ़ाने का काम करते हैं, जिससे हमारा बचाव एंटि-ऑक्सीडेंट (Antioxidant)ही करते हैं, और यह हमारी त्वचा की कसावट को भी बनाए रखते हैं और वृद्धावस्था को भी धीमा करते हैं, इसलिए विटामिन सी और के (Vitamin C and K) हमारे लिए काफी महत्वपूर्ण हैं।

इसे भी पढ़े  डेंगू बुखार, कारण , लक्षण एवं उपचार में प्रभावित कुछ पौधों के अर्क (Plant extracts)| Extracts of some plants affected in dengue fever, causes, symptoms and treatment in Hindi

3.हाईड्रेट बनाए रखना (Maintain hydrate)-

खीरा पानी का एक बहुत ही अच्छा स्तोत्र (Source) है, जो हमारे शरीर में पानी की मात्रा को संतुलित बनाए रखता है और हमारी त्वचा को भी चमकदार बनाए रखने में बहुत ही सहायक होता है। गर्मी के दिनों में खीरा शरीर में पानी की कमी होने से बचाता है, इसलिए गर्मियों में खीरे का सेवन तो अवश्य ही करना चाहिए ताकि यह गर्मियों में हमारे शरीर का तापमान (Temperature) संतुलित रखे और हमें लू (Heat stroke) से बचाए। पानी हमारे शरीर से सभी अपशिष्ट पदार्थों को बाहर करने में अपना बहुत ही महत्वपूर्ण योगदान देता है।

4. कैंसर से बचाव (Prevention of cancer) –

खीरे (cucumber) में विटामिन सी और विटामिन के और साथ ही कुछ पॉलीफेनोल्स (Polyphenols) मौजूद होते हैं जो की एंटिऑक्सीडेंट होते हैं यह हमें कैंसर जैसी खतरनाक बीमारियों से बचते हैं । यह गर्भाशय, स्तन, प्रोस्टेट और डिंबग्रंथि (uterine, breast, prostate and ovarian) जैसे कैंसर से बचता है। क्योंकि यह कुकुरबिटेसी (Cucurbitaceae) फैमिली से संबंध रखता है तो इसमें कुछ अवयव (Phytoconstituents) पाये जाते हैं जिसे हम कुकुरबीटासिंस (cucurbitacin’s) के नाम से जाना जाता है, जिसमें की कैंसर से बचाव की क्षमता पायी जाती है।

5. पाचन के लिए फायदेमंद (Beneficial for digestion)-

खीरे में फाइबर और पानी मौजूद होता है जो पाचन के लिए बहुत ही ज्यादा लाभदायक है। अगर किसी को कब्ज (Constipation) की समस्या रहती है, तो उसे खीरे का सेवन अवश्य करना चाहिए, ताकि फाइबर के सेवन से खाना जल्दी पचे और पाचन अच्छा रहे।

6. वजन कम करने में सहायक (Helpful in losing weight)-

खीरे में फैट की मात्रा नहीं होती इसलिए यह वजन को कम करने में बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। अगर खाने को संतुलित रख खीरे का सेवन किया जाए साथ ही सुबह के नाश्ते में सलाद के रूप में इसका सेवन किया जाए तो यह वजन को कम करने में सहायक होता है।

7.हृदय के लिए (For the heart) –

खीरे में पोटैसियम (Potassium) मौजूद होता है जो रक्तचाप (Blood pressure) को संतुलित रखता है और यह हमारे हृदय के लिए भी काफी महत्वपूर्ण होता है जो की हमारे हृदय को स्वस्थ रखने में कारगर है। इसके अलावा यह हमारे शरीर में इलेक्ट्रोलाइट (Electrolytes) के संतुलन को बनाए रखता है।

इसे भी पढ़े  हाइपरसेन्स्टिविटी अभिक्रिया क्या है, इसके प्रकार, इनसे होने वाली एलर्जि, लक्षण और उपचार|What is hypersensitivity reaction, its types, allergies caused by them, symptoms and treatment

8.मस्तिष्क और तनाव के लिए उपयोगी (Useful for brain and stress) –

खीरे में फ्लेवोनोल (Flavanol) और पॉलीफेनोल्स (Polyphenols) मौजूद होते हैं जो हमें अवसाद और चिंता से दूर रखते हैं साथ ही हमारे मस्तिष्क को भी स्वस्थ रखते हैं फ्लेवोनोल (Flavanol) और पॉलीफेनोल्स (Polyphenols)हमें सूजन और जलन से भी राहत दिलाता है। ।

खीरा अपने आप में ही एक ऐसा फल है जो हर तरीके से हमें फायदा पहुँचाता है।

छीला हुआ खीरा या बिना छीला हुआ खीरा, कौन सा है फायदेमंद (Peeled cucumber or unpeeled cucumber, which is beneficial)-

जैसा की हम सभी कई बार खीरा बिना छीले खाते हैं और कई बार छील के खाते है, यह भी इस बात पर निर्भर करता है की कौन सा मौसम है क्योंकि की कई बार खीरा कड़वा भी होता है, लेकिन कई बार मौसम के हिसाब से यह काफी मीठे भी होते हैं तो इन्हें बिना छीले खाने में बड़ा मजा आता है।

छिलके वाले खीरे के फायदे (Benefits of unpeeled cucumber) –

बिना छीले हुए खीरे में विटामिन ए (Vitamin A) मौजूद होता है जो हमारी आँखों के लिए , हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है। और साथ ही बिना छीले हुए खीरे में सारे पोषक तत्व थोड़ी ज्यादा मात्रा में मौजूद होते हैं। मतलब की छिलके वाले खीरे का सेवन हमें ज्यादा फायदा पहुँचाता है। इसलिए जहाँ तक संभव हो सके हमें छिलके वाले खीरे का ही सेवन करना चाहिए।

बिना ही छिलके मतलब बिना छीले हुए खीरे खाने से बस यही होता है की उसमें पोषक तत्वों की थोड़ी से कमी हो जाती है। अब यह हम पर निर्भर करता है की खीरा छील कर खाएँ या बिना छीले।

खीरे को खाने का समय –

खीरे को कभी भी शाम या रात में नहीं खाना चाहिए। खीरे का सेवन सुबह या दोपहर में ही करना चाहिए, क्योंकि खीरा रात में खाने से यह कफ पैदा करता है। इसके अलावा कई बार कुछ लोगों को ज्यादा खीरे का सेवन करने से भी कफ की समस्या होती है, इसलिए इसके सेवन का समय और मात्रा पर ध्यान दें।

अन्य पढ़े – 

क्या एंटिबायोटिक्स हो रही हैं भारतीयों पर बेअसर

विटामिन क्या है, इसके प्रकार और इनकी कमी से होने वाले खतरे और बीमारियाँ

मिर्गी क्या है, प्रकार, कारण, रोगजजन, लक्षण और संकेत, परीक्षण और उपचार

Leave a Comment

Important Links

Join Our Whatsapp Group Join Whatsapp